Sunday, 19 February 2017

यूं ही कुछ बातें करते है- अनुज पारीक



चलो आज शब्दों का ताना बाना बुनते है।
कुछ तुम कहो, कुछ हम कहे 
और यूं ही कुछ बातें करते है। 
                      अनुज पारीक 
                      धुन ज़िन्दगी की 
धुन कविता की 
  कविता की धुन 

No comments:

Post a Comment